बैंक ऑफ़ बड़ौदा बुकरू शाखा मैं काके बुकरू सुकरहुतु शाखा द्वारा स्वयं सहायता समूह को ऋण वितरण समारोह का आयोजन किया गया,

रिपोर्टर:-सुनील पोद्दार

अब दीखेगा खबरों का असर

रांची: बैंक ऑफ़ बड़ौदा बुकरू शाखा मैं काके बुकरू सुकरहुतु शाखा द्वारा स्वयं सहायता समूह को ऋण वितरण समारोह का आयोजन किया गया इस अवसर पर बैंक ऑफ़ बड़ौदा के क्षेत्रीय प्रबंधक मनोज कुमार उप क्षेत्रीय प्रबंधक घनश्याम जगन्नाथ गुप्ता एवं कई वरिष्ठ अधिकारीगण मौजूद रहे इस समारोह में बादु, कोकदोरो, इच्छापीढ़ी,सतकनाडु,हुसीर एवं उगरहुतु के मुखियागण उपस्थित रहे इस समारोह में कांके प्रखंड के लाभुकगन एवं अन्य गणमान्य व्यक्ति बड़ी संख्या में सम्मिलित हुए इस अवसर पर कांके थाना प्रभारी विनय सिंह सम्मिलित हुए इस इस अवसर पर रांची क्षेत्रीय कार्यालय के सभी शाखाओं द्वारा ऋण वितरित किया गया इस समारोह में 146 समूह को 1.5 9 करोड़ का ऋण वितरण किया गया स्वयं सहायता समूह की विस्तृत जानकारी क्षेत्रीय प्रबंधक मनोज कुमार द्वारा दिया गया इसके साथ ही संवाददातों के समुख क्षेत्रीय प्रमुख का साक्षात्कार हुआ और बैंक ऑफ़ बड़ौदा द्वारा संचालित विविध कार्यक्रम की जानकारी मीडिया को दी गई इस कार्यक्रम का सफल संचालन कार्यालय के अधिकारी पूनम किंडो के द्वारा किया गया एवं कार्यक्रम का समापन भाषण बुकरु शाखा के शाखा प्रबंधक सुहित घोष द्वारा किया गया।

www.swarnindianews.com

बैंक ऑफ बड़ौदा बुकरू शाखा के अधिकारिगण
स्वयं सेवी संस्थागण,बुकरू

पूर्व कार्यकारी डीजीपी एमवी राव अब हैदराबाद जाकर खेती करने की तैयारी कर रहे हैं,

Report:-Sunil Poddar, Ranchi

रोइए मत राव साहब, आप झारखंड के दिल में हैं

पूर्व कार्यकारी डीजीपी एमवी राव अब हैदराबाद जाकर खेती करने की तैयारी कर रहे हैं

रांची : झारखंड के डीजीपी माफ कीजिए पूर्व कार्यकारी डीजीपी एमवी राव अब हैदराबाद जाकर खेती करने की तैयारी कर रहे हैं. जाने से पहले उन्होंने सबको शुक्रिया कहा, ख़ासकर उनको जिन्होंने उनके लिए विष उगला. राव साहब बाकी तो सब ठीक था लेकिन सवाल यही कचोट रहा है कि आपने विष पीया कब ? उल्टा आपके लिए तो झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को विष पीना पड़ा. आप तो विष्णु हैं, आपका काम लीला करना था और आपने लीला की. जब भी आपकी गाथा लिखी जाएगी तो उसमें आपकी आयरन हैंड लीला से लेकर कोयला चोरी लीला तक का उल्लेख रहेगा और भरपूर रहेगा. आज आप भले आंसू टपका रहे हैं, ये सोचकर कि ये आंसू आपकी छवि साफ और सरकार की छवि नमक भरी कर देंगे लेकिन हुज़ूर विष पीना किसे कहते हैं आप अपने कॉन्सेप्ट क्लीयर कर लीजिए.

विष तब पीया जाता है जब तमाम विवादों के बावजूद झारखंड और झारखंडियों ने आपको माथे पर बैठाया, आपको पुलिस का सिरमौर बनाया और नतीजा क्या, अचानक राज्य में कोयला चोरी बढ़ गयी. विष तो हुज़ूर झारखंडियों ने पीया जब पुलिस के सबसे बड़े अधिकारी होते हुए भी आप बोले की बेटियाँ अपनी सुरक्षा देख लें. विष तो झारखंडियों ने तब पीया जब पद से हट जाने के बाद भी आपने ट्रान्स्फ़र कर दिया. विष तो झारखंडियों ने तब पीया जब आपको डीजीपी बनाए रखने के लिए हम ग़रीबों को Supreme court में करोड़ों खर्च करने पड़े सिर्फ़ केस लड़ने के लिए. झारखंड का इतिहास रहा है जिस बाहरी को हमने सर पर बैठाया दिल में बसाया बाहें खोलकर गले लगाया बाद में हर उसने विषपान का ही स्वांग रचाया. ख़ैर आपने खेती करने का सोचा है तो बढ़ियाँ ही सोचा होगा, हम तो अब भी शुभकामनाएं ही देंगे. झारखंड आपको अब भी दिल में ही रखेगा.

झारखंड के डीजीपी माफ कीजिए पूर्व कार्यकारी डीजीपी एमवी राव अब हैदराबाद जाकर खेती करने की तैयारी कर रहे हैं. जाने से पहले उन्होंने सबको शुक्रिया कहा, ख़ासकर उनको जिन्होंने उनके लिए विष उगला. राव साहब बाकी तो सब ठीक था लेकिन सवाल यही कचोट रहा है कि आपने विष पीया कब ? उल्टा आपके लिए तो झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को विष पीना पड़ा.

www.swarnindianews.com

अरगोड़ा नदी के मसना स्थल पर अवैध कब्जा,

रिपोर्टर:सुनील पोद्दार ,राँची

www.swarnindianews.com

रांची। अरगोड़ा नदी के पास मसना स्थल पर अवैध कब्जे को लेकर ग्रामीणों का प्रदर्शन। समय 3.25 पर