समस्तीपुर में छठ पूजा के दौरान मंदिर की दीवार ढही, दो महिलाओं की मौत

समस्तीपुर: हसनपुर के बड़गांव में रविवार सुबह छठ पूजा के दौरान मंदिर की दीवार गिर जाने से कई लोग मलबे में दब गए। प्रशासन ने राहत और बचाव कार्य शुरू किया है। मलबे से दो महिलाओं के शव निकाले जा चुके हैं।

यह हादसा छठ घाट के पास तालाब के किनारे बने काली मंदिर की दीवार ढहने से हुआ। मलबे में कम से कम 12 लोगों के दबे होने की आशंका है। हादसे के बाद घाट पर अफरातफरी मच गई और लोग इधर-उधर भागने लगे। पुलिस पहुंच चुकी है। जेसीबी से मलबा हटाया जा रहा है। रोसड़ा से एसडीओ अमन कुमार भी मौजूद हैं। उन्होंने दो महिलाओं की मौत की पुष्टि की है।

उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ छठ महापर्व का समापन

कटिहार: जीवित देवताओं और जल धाराओं के साथ लोक आस्था के महापर्व छठ का रविवार सुबह उगते सूर्य देवता को अर्घ्य देने के साथ समापन हो गया। गुरुवार को नहाय-खाये के साथ उपासना शुरू करने वाले व्रतियों ने व्रत तोड़ा। …और इसी साथ ही चार दिनों से चला आ रहा छठ महापर्व विदा हो गया।

पर्व के समापन की पूर्व संध्या पर शनिवार शाम अस्ताचलगामी भास्कर भगवान को छठ व्रतियों ने अर्घ्य दिया। छठव्रतियों और श्रद्धालुओं की सुबह से ही नदियों, तालाबों और पोखरों के घाटों पर भीड़ रही।

कटिहार जिले में गंगा, महानंदा और कोशी नदी से लेकर विभिन्न तालाबों पर अर्घ्य को लेकर विशेष घाटों की व्यवस्था की गई। इस बार जिले में करीब 350 घाटों पर छठ पूजा का आयोजन हुआ। जिला प्रशासन ने शहर के करीब एक दर्जन अतिसंवेदनशील घाटों पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए। छठ व्रत के शांति से सम्पन्न होने पर प्रशासन ने राहत की सांस ली है। कोई भी मनचला एवं उचक्का हरकत नहीं कर पाया। पुलिस अधीक्षक विकास कुमार ने सुरक्षा प्रबंधों पर निगरानी रखी।

सहरसा में छठ घाट पर दो किशोरियों की डूबने से मौत

सहरसा: जिले के बिहरा थाना के बारा गांव में रविवार सुबह पोखर पर बनाए गए छठ घाट में डूबने से दो किशोरियों की मौत हो गई। जिले के अन्य स्थानों पर छठ घाट में दो लोग डूब गए हैं। ग्रामीणों ने दोनों लड़कियों के शव बाहर निकाल लिए हैं।

प्रशासन ने सूचना मिलते ही एसडीआरएफ की टीम को मौके पर भेजने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। बच्चियों की पहचान गोपाल कामत की पुत्री प्रियंका कुमारी (13) और पिंकू कामत की पुत्री तविश कुमारी (14) की रूप में हुई है।

इसके अलावा सौर बाजार थाना के कांप गांव स्थित दाहु भरना नदी में छठ पूजा के दौरान विनोद झा का पुत्र प्रिंस कुमार (13) डूब गया है। उसकी तलाश की जा रही है। इसके अलावा सलखुआ थाना व बनमा इटहरी ओपी के सुगमा गांव स्थित तिलावे नदी में छठ पूजा के दौरान राज किशोर महतों (38) बह गए।

बिहार में बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिये पूरा भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री उनके साथ और उनकी मदद करने के लिये तत्पर है।: Ravi Kishan

पटना : भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद और मेगास्टार रवि किशन का कहना है कि बिहार में बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिये पूरा भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री उनके साथ और उनकी मदद करने के लिये तत्पर है।

यशी फिल्म्स और भोजपुरी सिनेमा चैनल के संयुक्त तत्वावधान में राजधानी पटना में आज महापर्व छठ को लेकर एक विशेष कार्यक्रम जय छठी मईया का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में भाजपा सांसद रवि किशन, सुपरस्टार पवन सिंह, अंजना सिंह, रितेश पांडे, गुंजन सिंह, निधि झा समेत कई कलाकारों ने शिरकत की।

इस कार्यक्रम के माध्यम से जलप्रलय से तबाह पटनावासियों के प्रति अपनी एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए नि:स्वार्थ भावना से सभी कलाकार एक मंच पर एकत्रित हुये। इसके बाद कलाकारों ने छठी मैया को नमन करते हुए एक से बढ़कर एक गानों की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में यशी फिल्म्स, भोजपुरी सिनेमा एवं भोजपुरी के कलाकारों द्वारा पटना बाढ़ राहत कोष में 11 लाख का चेक दिया गया।

इस अवसर पर भाजपा सांसद रवि किशन ने कहा कि आज वह जो कुछ भी है उसमें बिहार की जनता का अहम योगदान रहा है। बिहार में हाल ही में जो आपदा आयी थी, उस दुख की घड़ी में पूरा भोजपुरिया समाज साथ है। हमलोगों ने बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिये राहत कोष में 11 लाख का चेक दिया है। हम आगे भी बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिये तत्पर हैं।

यशी फिल्म्स के निदेशक अभय सिन्हा ने कहा कि पहली बार सभी कलाकार सेवा भावना के लिए एक मंच पर एकत्रित होकर छठी मैया के भजन संध्या के बहाने पटना वासियों के सहायतार्थ फंड एकत्रित कर रहे हैं जो काबिले तारीफ है ।उन्होंने कहा कि बाढ़ जैसी प्राकृतिक विपदा की घड़ी में जिस तरह पटनावासियों ने अपने साहस का परिचय दिया है वह काबिले तारीफ है और उनके इस साहस को यशी फिल्म्स और भोजपुरी सिनेमा सलाम करता है ।

अंजना सिंह ने कहा कि हमलोग हर साल बिहार में छठ पर परफार्म करने के लिये आते थे। इस बार बाढ़ की जो आपदा आयी है उसी को देखते हुये हमलोग चैरिटी शो कर रहे हैं। इस कार्यक्रम में जो राशि इकट्ठी होगी उससे बाढ़ पीड़ितों की मदद की जायेगी। छठी मैया की कृपा से सारी चीजें ठीक हो जायेगी।गुजन सिंह ने कहा कि छठ बिहार का सबसे बड़ा पर्व है। इससे बड़ा पर्व कोई नही। भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री की ओर से बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिये जय छठी मैया कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। यशी फिल्मस ने इस दिशा में सराहनीय पहल की है।बिहार में बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिये पूरा भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री उनके साथ और उनकी मदद करने के लिये तत्पर है।